Archive for जून, 2008

भगवान् बुद्ध

कुछ लोग मानते हैं कि बुद्ध शाकाहारी नहीं थे, लेकिन ये सही नहीं है। गौतम बुद्ध सूअर नहीं सुथनी खाकर बीमार हुए थे। सुथनी आसानी से हजम नहीं होता और बुद्ध का हाजमा बहुत कमजोर हो चुका था। आमतौर से बहुत कठिन परिश्रम करने वाले लोग ही उस समय सुथनी खाया करते थे। ये आलु या शकरकंदी की तरह एक तरह का मूल होता है। 

Leave a comment »

आहार का आधार

मैं फिर से बताना चाहता हूँ कि समस्या वैज़-नॉनवैज़ की नहीं है। बात है धर्म की, हमारा धर्म हमें जो खाने की अनुमति देता है वो सब भक्ष्य है हमारे लिए शाकाहार है। चाहे वो दही हो या अंकुरित मूँग या दूध, ये सब खाकर भी आप यदि हिन्दू हैं तो शाकाहारी ही रहेंगें। ईसाई धर्म के अनुसार व्रत के समय दूध मांसाहार है लेकिन गुरुवार को यदि व्रत है तो मछली शाकाहार है। ठीक इसी प्रकार हम हिन्दुओं के लिए दूध-दही शाकाहार है।

 

Leave a comment »

Italian cream cheese Mascarpone

जैसा कि मैं पहले लिख चुका हूँ कि जिसे लोग वैज़ पीज़ा कहते हैं वो भी शाकाहारी नहीं होता क्योंकि उसके ऊपर हार्ड-चीज़ की टॉपिंग होती है और हार्ड-चीज़ हमेशा गोमांस युक्त होता है। पीज़ा प्रेमी हिन्दु जो विदेश में रहते हैं उनके लिए एक सूचना है कि- आप NRIs! वैज पीजा अपने घर में बना सकते हैं। आप बिना हार्ड-चीज़ के असली पीज़ा का आनन्द ले सकते हैं। एक बहुत ही पुरानी और मशहूर कंपनी (Italian) है। ये कुछ गाढ़े किस्म की एक क्रीम बना कर डिब्बे में बेचती है (Mascarpone)। हालांकि ये क्रीम हार्ड-चीज़ से दो-चार गुना मंहगी है लेकिन, इसकी टॉपिंग अगर पीज़े पर की जाए तो हार्ड-चीज़ जैसा ही पीज़ा बनेगा और हमारा धर्म भी बचा रहेगा और एक ख़ास बात कि हार्ड-चीज़ वाली बदबू इसमें नहीं आती क्योंकि ये शुद्ध शाकाहारी है और इसमें कोई कैमिकल या ENumber नहीं है।

इसमें सिर्फ दूध, क्रीम और टाटरी है।

मैं एक बार फिर आपको ध्यान दिलाना चाहता हूँ कि चाहे आप भारत में हो या दुनिया के किसी भी कोने में रह रहें हो, कभी भी ENumber वाले उत्पाद न खरीदें। बेशक आप जानते हों कि ये ENumber किसी विटामिन या किसी जाने-पहचाने शाकाहारी तत्त्व का है। क्योंकि ENumber वाले विटामिन या आपके जाने-पहचाने शाकाहारी तत्त्व, मांसाहारी भी हो सकते हैं

बाज़ार में बिकने वाली कुछ ऐसी हार्ड-चीज़ भी हैं जोकि दावा करते हैं कि हमारे हार्ड-चीज़ में किसी भी पशु के शरीर का प्रयोग नहीं किया गया है, सिर्फ दुग्ध उत्पाद से निर्मित हार्ड-चीज़ है। लेकिन वास्तव में वो भी शाकाहारी नहीं है। मैंने बाज़ार में एक ऐसी ही हार्ड-चीज़ देखी, उत्पाद के ऊपर भी शाकाहारी होने का दावा छपा था, लेकिन एक E-No. भी छपा था जोकि गाय की हड्डी से बना था।

 

 

Leave a comment »